अवैध संबंधों का कारण वास्तुदोष भी हो सकता है-जानिये कैसे ? - BABAJIFANCLUB

Hot

Wednesday, 21 February 2018

अवैध संबंधों का कारण वास्तुदोष भी हो सकता है-जानिये कैसे ?



यदि पति-पत्नी के बीच कोई तीसरा व्यक्ति आ जाये और वो आपके साथी के साथ अवैध सम्बद्ध रखता हो तो, इस अवैध सम्बन्ध का कारण वास्तु दोष भी हो सकता है। अवैध संबंधों का असर आपके जीवन पर बहुत बुरा साबित हो सकता है। इसकी वजह से आपकी पर्सनल लाइफ तो प्रभावित होती ही है साथ में प्रोफेशनल लाइफ भी प्रभावित होती है। आपकी हर जगह हंसी भी उड़ाई जाती है। 

अगर वास्तु के अनुसार कुछ छोटे-छोटे परिवर्तन करें तो पति-पत्नी के बीच किसी तीसरे व्यक्ति को दूर किया जा सकता है। इसके लिए इन बातों का ध्यान रखना चाहिए-


  1. दम्पत्ति को आग्नेय कोण में कभी भी नहीं सोना चाहिए। इससे मन-मस्तिष्क में अशांति रहेगी तथा रोज विवाद होंगे।
  2. विवाहित व्यक्ति को घर के वायव्य कोण(उत्तर-पश्चिम) में नहीं सोना चाहिए, इससे दाम्पत्य जीवन में नीरसता आती है।
  3. यदि रसोई और शौचालय पास-पास रहेगा तो भी अवैध सम्बन्ध होने का खतरा बना रहता है। 
  4. रसोई में सुबह का प्रकाश आने की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए। 
  5. दक्षिणी नैऋत्य(पश्चिम-दक्षिण), उत्तरी वायव्य(उत्तर-पश्चिम) या पश्चिमी नैऋत्य(पश्चिम-दक्षिण) का निर्माण यदि ठीक न हो तो पति के संबंध अन्य महिलाओं से होते हैं। जिसके कारण घर में लड़ाई-झगड़े होते हैं।
  6. आपके बेडरूम में चादर लाल और सफ़ेद रंग के होने चाहिए। इससे आपका वैवाहिक जीवन खुशनुमा बना रहता है। 
  7. परदों का रंग नीला होना चाहिए इससे नकारात्मकता दूर रहेगी। 


No comments:

Post a Comment