दीपावली पर लक्ष्मी पूजन की विधि, जो नोटों से भर देगी आपकी तिजोरी । दीपावली 2017 विशेष - BABAJIFANCLUB

Hot

Thursday, 5 October 2017

दीपावली पर लक्ष्मी पूजन की विधि, जो नोटों से भर देगी आपकी तिजोरी । दीपावली 2017 विशेष



दीपावली भारतीयों द्वारा मनाया जाने वाला सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार है। इस बार दीपावली का त्योहार 19 अक्टूबर को है।  कहा जाता है कि इस दिन घी के दिए  जलाने से घर में माँ लक्ष्मी का प्रवेश होता है। जिस घर से माँ लक्ष्मी का अधिक प्रसन्न होती हैं , उन्हें कभी भी धन, धान्य और सम्पदा की कमी नहीं होती है।  
दीपावली के दिन माँ लक्ष्मी के साथ कुबेर और श्री गणेश जी की भी पूजा होती है। लक्ष्मी माता को प्रसन्न करने के लिए भगवान विष्णु का भी पूजन करना चाहिए।  माँ लक्ष्मी के उपासक लक्ष्मी पूजा के दिन पूरे दिन भर उपवास रखते हैं। शाम को लक्ष्मी पूजा के बाद उपवास पूजा के प्रसाद से तोडा जाता है।

पूजा के लिए शुभ मुहूर्त-
गुरूवार 19अक्टूबर को लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त शाम 4 बजकर 55 मिनट से लेकर रात 9 बजकर 13 मिनट तक गोधूली प्रदोषकाल और स्थिर लग्न का है।  इसके बाद रात्रि 11 बजकर 26 मिनट तक सामान्य उत्तम मुहूर्त रहेगा। 

पूजा विधि -
सर्वप्रथम भूमि को गंगाजल इत्यादी से शुद्ध करके नवग्रह यंत्र बनाएं । पूजास्थल को सफेद या हल्के पीले रंग से रंगें। पूजन शुरू करने से पहले चौकी को धोकर उस पर रंगोली बनाएं और चौकी के चारों तरफ चार दीपक जलाएं। लक्ष्मीजी की पूजा के दीपक उत्तर दिशा की ओर रखे जाते हैं। तत्पश्चात भगवान् गणेश और माता लक्ष्मी की नई मूर्तिओं को मंत्रोच्चार के साथ स्थापित करें।  इसके बाद बाद मां लक्ष्मी के चरणों में श्रीयंत्र रख पूजन करें।

सबसे पहले भगवान् गणेश की पूजा करें और इसके बाद स्‍थापित सभी देवी-देवताओं का पूजन करें। मां लक्ष्मी का ध्यान करें. मां लक्ष्मी को इस दिन लाल वस्‍त्र जरूर पहनाएं.

गाय के शुद्ध घी में केसर डालकर दीपक प्रज्वलित करें, ऐसा करने से रूका हुआ धन वापस आने के संयोग बनते हैं। 

लक्ष्मी जी की पूजा करते वक़्त साफ़-सफाई का विशेष ध्यान दिया जाना चाहिये। स्थिर लक्ष्मी कि कामना हेतु दक्षिणावर्ती शंख, मोती शंख, गोमती चक्र इत्यादि को शास्त्रों में लक्ष्मी के सहोदर भाई माना गया हैं । इन दुर्लभ वस्तुओं कि स्थापना करने से लक्ष्मी जी प्रसन्न होती हैं ।

पुष्प, फल, सुपारी, पान, चांदी का सिक्का, नारियल (पानी वाला), मिठाई, मेवा, आदि सभी सामग्री माता लक्ष्मी के चरणों में अर्पित करना चाहिए जिससे माता लक्ष्मी की कृपा बनी रहे। 

धन लक्ष्मी की प्राप्ति के लिए मंत्र -
|| ॐ श्री महालक्ष्म्यै च विद्महे विष्णु पत्न्यै च धीमहि तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात् || 
|| ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नम: || 

उक्त मंत्र का जाप करना, खीर, पंचामृत ,कमलगटा ,वैजयन्ती ,शतावरी आदि से दशांश हवन करना चाहिए। माता लक्ष्मी की कृपा अवश्य बनी रहेगी। 
दीपावली पर भूल कर भी न करें ये काम, हो सकती है धन संपत्ति की हानि।

No comments:

Post a comment