भूत प्रेत और काली शक्तियों से बचने के लिए कैसे करें हनुमान चालीसा का पाठ? - BABAJIFANCLUB

Hot

Thursday, 12 October 2017

भूत प्रेत और काली शक्तियों से बचने के लिए कैसे करें हनुमान चालीसा का पाठ?


यदि आपको रात में बहुत डर लगता है या फिर ऐसा लगता हो की कोई आपको देख रहा है या फिर रात मे आपको अजीब अजीब सी आवाजें सुनाई देती है या फिर काली शक्तियों और बुरी आत्माओं का आभास होता है तो नित्य ही हनुमान जी को स्मरण करने से आपका यह डर दूर हो जायेगा। 

कहते हैं रोज सुबह स्नान करके हनुमान जी को एक लोटा जल चढाने के बाद पवित्र मन से हनुमान चालीसा का पाठ करने से भूत प्रेत, जिन्न, चुड़ैल  और अन्य काली शक्तियों जैसे टोना टोटका आदि से मुक्ति मिलती है। 

शास्त्रों अनुसार हनुमान जी को कलयुग के देवता के रूप में माना गया है, कलयुग में हनुमानजी की भक्ति को सबसे जरूरी और कल्याणकारी बताया गया है। हनुमानजी की भक्ति सबसे सरल, सुखद और शीघ्र ही लाभ  प्रदान करने वाली मानी गई है। यह भक्ति जहां हमें भूत-प्रेत जैसी न दिखने वाली आपदाओं से बचाती है, वहीं यह साढ़े साती एवं शनि की बुरी नजर से भी बचाती है। जिन लोगों को रात मे डर लगता है या फिर डरावने विचार मन में आते रहते हैं, उन्‍हें रोज हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिये।

गोस्वामी तुलसीदास जी ने हनुमान चालीसा में कहा है - "भूत पिशाच निकट नहिं आवै महावीर जब नाम सुनावै।"

No comments:

Post a Comment